Sunday, August 19, 2018

कब्ज का घरेलू इलाज

कब्ज का घरेलू इलाज - 

आज के समय कब्ज कभी ना कभी सभी को हो जाता है कब्ज होने के समय आदमी का मल निकलने में दिक्कत होने लगती है और आदमी का मल कड़ा हो जाता है |


कब्ज का घरेलू इलाज

         "Home remedies for acidity in hindi" 
जाने दस्त लगने के 10 घरेलु उपचार
जाने बालो को झड़ने से रोकने के 10 घरेलु उपचार

कब्ज का घरेलू इलाज हिन्दी -


  1. सुबह उठकर एक-दो गिलास पानी पीना चाहिए। पानी में एक नींबू का रस मिला लें तो और भी उपयोगी रहेगा। जिससे आप की कब्ज(एसिडिटी) की बिमारी ज्ल्द्दी ठीक हो जाएगी |आवला चूर्ण एक चाय चम्मच रात में सोते समय पानी या दूध के साथ फांकने से कब्ज(एसिडिटी)  दूर होती है। आंवला चूर्ण को मधु के साथ भी ले सकते हैं।
  2. आंवला सूखा 3-4 ग्राम रात को पानी में भिगोकर सुबह मसलकर व छानकर पानी पीने से कब्ज(एसिडिटी)  की शिकायत दूर हो जाती है।
  3. छुहारा और आंवला एक-एक नग रात में पानी में भिगोने के बाद सुबह मसलकर और छानकर 2-2 चाय चम्मच दिन में 2 3 बार पीते रहने से भी कब्ज(एसिडिटी)  की शिकायत दूर हो जाती है।
  4. त्रिफला (आंवला हरड़, बहेड़ा-चूर्ण) या केवल आंवला चूर्ण 5 10 ग्राम (1-2 चाय चम्मच) सोते समय रात में गर्म दूध या गर्म जल के साथ फांकने से कब्ज(एसिडिटी)  दूर होती है।
  5. आम खाकर दूध पी लेने से कब्ज(एसिडिटी)  दूर हो जाती है।
  6. आड़ का रस 1/2 प्याला नित्य पीते रहने से भी कब्ज(एसिडिटी)  से छुटकारा मिलता है ।
  7. सेब और चुकन्दर का रस पीते रहने या सेब व चुकन्दर खाते रहने से कब्ज(एसिडिटी)  दूर रहती है।
  8. सोंठ का चूर्ण ग्राम लेकर उसमें -सा नमक मिला लें।गर्म पानी के साथ इसे ग्रहण करते रहने से कब्ज(एसिडिटी)  की शिकायत दूर रहती है।
  9. आंवला ताजा खाते रहने से भी पेट साफ रहता है।
  10. ग्वार पाठा (गृत कुमारीघीग्वार) की मांसल पत्तियों के रस या गूदे में नमक मिलाकर सेवन करने से कब्ज दूर होती है।
  11. सुबह उठते ही बासी मुंह तांबे के बर्तन में साफ रखा हुआ पानी पीते रहने से कब्ज दूर रहती है
  12. हल्दी का चूर्ण एक चाय चम्मच प्रतिदिन सोने के पूर्व दूध के साथ लेते रहने से कब्ज और बवासीर से छुटकारा मिलता है।
  13. बब्बूगोशा का एक या दो फल खाते रहने से कब्ज दूर रहती है। कब्ज अधिक परेशान करे तो नाशपाती का एक कप रस रोज पीते रहने से भी कब्ज(एसिडिटी)  से छुटकारा मिलता है।
  14. संतरा दो नग लेकर सुबह उसका रस निकाल लें। उसमें थोड़ा पानी मिलाकर पी जाएं। ऐसे में स्वत: कब्ज में आराम मालूम पड़ने लगेगा।
  15. तली हुई सामग्री मिर्च मसाले, अचारखटाई आदि का सेवन न करें। वसा का प्रयोग वर्जित रखें। धूम्रपान व तम्बाकू का किसी भी रूप में प्रयोग वर्जित रखें ताजे फल व ताजी सब्जियां सलाद के रूप में या कच्ची दशा में तथा पकाकर भी प्रयोग करें। पत्ते वाली सब्जियों जैसे पालक, सोया, मेथी , कुल्फा चौलाई,पत्ता गोभी, शलजम,फूल,गोभी, मूली व चुकंदर की हरी ताजी |
  16. पत्तियों का किसी-न -किसी रूप में सेवन अवश्य करें। इनका तथा गाजर, टमाटर का घोल (रसा) भी पीएं।पपीता और अमरूद तो स्वयं ही कब्ज़ की औषधियां हैं। इनका नियमित प्रयोग करते रहने से तो कब्ज होने का प्रश्न ही नहीं पैदा होता। इनके पके फलों का सेवन स्वाद के साथ बराबर करते रहें। कब्ज में आराम रहेगा।
  17. चोकर सहित आटे की रोटी और छिलके सहित दाल का प्रयोग करने से पेट साफ रहता है|
  18. कब्ज बने रहने से पेट साफ नहीं हो पाता, जिसके कारण मुह में छाले व बवासीर, भगन्दर जैसे कई रोग तथा अन्यघातक रोग उत्पन्न हो जाते हैं इससे बचने के लिय आप इन उपाय का प्रयोग जरुर करे.

Keyword- 

acidity,acid reflux,heartburn,acid reflux symptoms,reflux,heartburn remedies,acid reflux relief,acid reflux treatment,home remedies for heartburn,heartburn symptoms,acid reflux cure,acid indigestion,home remedies for acid reflux,home remedies for acidity,natural remedies for acid reflux,acidity symptoms,natural remedies for heartburn,what causes acid reflux,best medicine for acidity in the stomach,acidity causes,acidity treatment,remedies for acidity,hyperacidity treatment,hyperacidity cure,कब्ज का घरेलू इलाज, 

0 comments: